Saturday 15 September 2012

यूपीए का डीजल बम , कांग्रेस का निकलेगा दम


कांगी गैंग के ताबूत की आखिरी कील, सांसद निधि 2 से बढ़ा के 5 करोड़ कर दी जाती है, एक पागल और भ्रमित बाबा, एक निर्दयी महारानी एक नाकारा प्रधानमंत्री, एक कुक प्रेसिडेंट और भ्रष्ट कैबिनेट पर अरबो खर्च करने वाली सरकार अब देशवासियों के धैर्य की परीक्षा लेने पर उतारू हो गयी है आश्चर्य नहीं अगर कल जनता सड़क पर उतर कर विद्रोह कर बैठे .

सरकार जब बड़ी कंपनियों को टैक्स में 13 लाख करोड़ रुपये तक की छूट दे सकती है तो क्या जनता को सस्ते दामों पर सिलेंडर उपलब्ध कराने के लिए 37 हजार करोड़ रुपये खर्च नहीं कर सकती। जब नेताओं को दिए जाने वाले सिलेंडरों की संख्या सीमित नहीं है तो जनता को क्यों गिनकर सिलेंडर दिए जाते हैं। नवीन जिंदल के घर एक साल में 370 सिलेंडर पहुंचाए जा सकते हैं तो आम आदमी साल भर में मात्र छह सिलेंडरों में कैसे गुजारा कर सकता है।


मेरा अनुरोध है हर उस पार्टी से जो देश की जनता का खून चूसने वाली इस सरकार के साथ है कि इनके पिछवाड़े पर लात मार कर इन्हे अकेला छोड़ दे, और जनता से अपील है कि अब किस चीज का इंतज़ार है कब तक अपना खून पिला कर इन जोंको को पालेंगे,अब इनसे अपने ख़ून पसीने का हिसाब लो आप लोग..

डीजल का दाम बढ़ना सिर्फ डीजल का दाम बढ़ना नहीं है ये सारी महंगाई की माँ है, महंगोत्री है, इससे खेती कि लगत बढ़ेगी, माल धुलाई बढ़ेगी, कार टैक्सी का किराया बढेगा, पहले से महंगाई कि आंच झेल रही जनता अब निचुड़ जाएगी..

एक ही रास्ता है निचुड़ो या निचोड़ डालो इन कांग्रेसियों को, हर कांग्रेसी मंत्री और सांसद विधायको के घर पर धरना दिया जाय, हर चुनाव में इन्हें बेचारा बनाया जाय..और इनके अहंकार को तोड़ डाला जाय..



कांग्रेस भगाओ देश बचाओ
सड़क पर आओ, देश बचाओ :

4 comments:

  1. अजीत भाई आपकी बहुमुखी प्रतिभा को नमन ! आप के हिंदी लेखन में तो तथ्यात्मक जादू है

    ReplyDelete
  2. महाविषैली पूतना, बकासुरी बकवास ।

    घटक घुटाले अघासुर, मन मोहन के पास ।

    मन मोहन के पास, दु:शासन दुर्योधन-दिग ।

    कर्ण-कपिल चिद-द्रोण, पुत्र जिंदल नाबालिग ।

    महाराष्ट्र धृतराष्ट्र, निभाती फिर गांधारी ।

    शकुनी की जय बोल, तय पांडव की हारी ।।

    word varification hatao-
    4 bar try kar chuka

    ReplyDelete
  3. आपकी नजरो का कमाल है नागेन्द्र भैया , बस दिल के जख्म है,इस छद्म धर्मनिरपेक्षता ने देश का बेडा गर्क कर दिया है...

    ReplyDelete
  4. Kshama chahunga Ravikar bhai, mai koshish karta hu....

    ReplyDelete